Poetry

ऐ बारिश, तू ना थमना….

♦हस्ते थे हम भी अक्सर,तराने भी गुनगुनाते थे,दिल की बातें अक्सर युहीं कह जाते थे..अब रोते है हम युहीं रातों में दिल की बातें दिल में रहीं।एक चाहा था बस साथ तुम्ह... Read More...